Best Desh Bhakti Shayari (देश भक्ति शायरी)in Hindi

The best Desh bhakti shayari is collection of new desh bhakti shayary’s. Republic Day shayari & Independence Day shayari.this shayaries share In whatsapp,facebook ,SMS share it with your friends💐

दे सलामी इस तिरंगे को,
जिस से तेरी शान है,
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका,
जब तक तुझ में जान है.

Do salam

छोड़ो कल की बातें,
कल की बात पुरानी,
नए दौर में लिखेंगे,
मिल कर नयी कहानी,
हम हिंदुस्तानी.

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


कुछ नशा तिरंगे की आन का हैं,
कुछ नशा मातृभूमि की शान का हैं,
हम लहरायेंगे हर जगह ये तिरंगा,
नशा ये हिन्दुस्तान की शान का हैं


देश की हिफाजत मरते दम तक करेंगे
दुश्मन की हर गोली का हम सामना करेंगे
आजाद हैं और आजाद ही रहेंगें
जय हिन्द !!


मैं भारतवर्ष का हरदम अमिट सम्मान करता हूँ,यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की, तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ, जय हिन्द!

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


Ye bath hawavo

ये बात हवाओ को बताये रखना, रौशनी होगी चिरागो को जलाये रखना, लहू देकर जिसकी हिफाज़त हमने की… ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना…!!


जिसे सींचा लहू से है वो यूँ खो नहीं सकती,
सियासत चाह कर विष बीज हरगिज बो नहीं सकती, वतन के नाम पर जीना वतन के नाम मर जाना, शहादत से बड़ी कोई इबादत हो नहीं सकती.


सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में हैं,
देखना हैं जोर कितन बाजू-ए-कातिल में हैं,
वक्त आने दे बता देंगे तुझे ए आसमां,
हम अभी से क्या बताएं क्या हमारे दिल में हैं.

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


किसी को लगता हैं हिन्दू ख़तरे में हैं,
किसी को लगता मुसलमान ख़तरे में हैं,
धर्म का चश्मा उतार कर देखो यारों,
पता चलेगा हमारा हिंदुस्तान ख़तरे में हैं.


चिंगारी आजादी की सुलगी मेरे जश्न में हैं,
इन्कलाब की ज्वालाएं लिपटी मेरे बदन में हैं, मौत जहाँ जन्नत हो ये बात मेरे वतन में हैं, कुर्बानी का जज्बा जिन्दा मेरे कफन में हैं.


Apni dharathi

अपनी धरती अपना हैं ये वतन, मेरा है मेरा है ये वतन इस पर जो आॅंख उठाएगा, जिंदा दफना दिया जाएगा मुझे जान से भी प्यारा है ये वतन!!

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


आओ झुक कर करें सलाम उन्हें जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है कितने खुशनसीब हैं वो लोग जिनका खून वतन के काम आता हैं!


ना सरकार मेरी है ना रौब मेरा है,
ना बड़ा सा नाम मेरा है,
मुझे तो एक छोटी सी बात का गौरव है,
मै हिन्दुस्तान का हूँ और हिन्दुस्तान मेरा है।
जय हिन्द


ऐ मेरे वतन के लोगों तुम खूब लगा लो नारा
ये शुभ दिन है हम सब का लहरा लो तिरंगा प्यारा
पर मत भूलो सीमा पर वीरों ने है प्राण गँवाए, कुछ याद उन्हें भी कर लो जो लौट के घर न आये।

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


दिल हमारे एक हैं एक ही है हमारी जान,
हिंदुस्तान हमारा है हम हैं इसकी शान,
जान लुटा देंगे वतन पे हो जायेंगे कुर्बान,
इसलिए हम कहते हैं मेरा भारत महान।


Kuch hath se mera

कुछ हाथ से मेरे निकल गया,
वो पलक झपक के छिप गया,
फिर लाश बिछ गयी लाखों की,
सब पलक झपक के बदल गया।



जब रिश्ते राख में बदल गए,
इंसानियत का दिल दहल गया,
मैं पूछ पूछ के हार गया,
क्यूँ मेरा भारत बदल गया !!

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


Jab ankh khuletho

जब आँख खुले तो धरती हिन्दुस्तान (INDIA) की हो:
जब आँख बंद हो तो यादेँ हिन्दुस्तान(INDIA) की हो:
हम मर भी जाए तो कोई गम नही लेकिन,
मरते वक्त जमीं हिन्दुस्तान(INDIA) की हो।


Desh bhakti shayari

शहीद हो गए जो ओढ़ तिरंगा
भारत मा की गोद में
फिर होंगे ये वीर पैदा
किसी भारत माँ की गोद से


जिसे सींचा खून से उसे हम कभी खो नहीं सकते, धन चाह कर जहर हरगिज बो नहीं सकते, वतन के नाम पर जीना देश के नाम मर जाना, शहादत से बड़ी कोई इबादत हो नहीं सकती.

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


Jo raat ko

जो रात को भी तैनात रहता है
और जो दिन को भी तैनात रहता है
वो है मेरा भारतीय वीर जवान


मेरे दिल में अपने देश का सम्मान है इस मिटटी इस धरती का ही गुणगान है फक्र होगा मुझे अपनी मौत से कफ़न तिरंगा का हो यही अरमान है


2 Line Desh Bhakti Shayari in Hindi

कर सलाम इस तिरंगे को जो तेरी शान है,
सर हमेशा ऊँचा रखना जब तक जान में जान है….

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


ऐ मेरे पाँव के छालों जरा लहू उगलो.. सिरफिरे मुझसे सफर के निशान माँगेगे..!!


E desh tumhe

ये देश तुम्हे बुला रहा है आ जाओ
कर्ज इस माँ का चूका जाओ !!


देकर कुर्बानी अपने जान की सच्चे लाल तुम्ही हो एक बार दिखला जाओ !!

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्ताँ हमारा
हम बुलबुलें हैं इसकी, यह गुलिस्ताँ हमारा !


कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी
सदियों रहा है दुश्मन, दौर-ए-जहाँ हमारा !!


मैं भारतवर्ष का हरदम अमिट सम्मान करता हूँ ! यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ, मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की, तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ….!!

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


Jo bhara nahi

जो भरा नहीं है भावों से,
जिसमें बहती रसधार नहीं,
वह हृदय नहीं है पत्थर है,
जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं।


ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई ,
मगर वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता , नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई , मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता !!


ये बात हवाओं को बताए रखना
रोशनी होगी चिरागों को जलाए रखना
लहू देकर जिसकी हिफाजत हमने की
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाए रखना
स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं !!

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


Dil hamara ek

दिल हमारे एक हैं, एक ही है हमारी जान।
हिन्दुस्तान हमारा है, हम हैं इसकी शान।
जान लुटा देगे वतन पे हम, हो जाएंगे कुर्बान।
इसीलिए हम कहते हैं मेरा भारत महान।।


खुशनसीब हैं वो जो वतन पर मिट जाते हैं, मरकर भी वो लोग अमर हो जाते हैं, करता हूँ उन्हें सलाम ए वतन पे मिटने वालों, तुम्हारी हर साँस में तिरंगे का नसीब बसता है…!


यही खुवाहिश खुदा हर जन्म हिन्दुस्तान वतन देना, अगर देना तो दिल में देशभक्ति का चलन देना, न दे दोलत न दे शोहरत, कोई शिकवा नही हमको, झुका दूँ सर मै दुश्मन का यही हिम्मत का धन देना, अगर देना तो दिल में देशभक्ति का चलन देना ||

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


Har waqt mera

हर वक़्त मेरी आँखों में धरती का स्वप्न हो, जब कभी मरू तो तिरंगा मेरा कफ़न हो, और कोई ख्वाहिश नहीं है ज़िन्दगी में, जब कभी भी जन्मु तो भारत मेरा वतन हो||


अपनी धरती अपना हैं ये वतन, मेरा है मेरा है ये वतन, इस पर जो आॅंख उठाएगा जिंदा दफना दिया जाएगा… मुझे जान से भी प्यारा है ये वतन..


मुझे ना तन चाहिए, ना धन चाहिए
बस अमन से भरा यह वतन चाहिए
जब तक जिन्दा रहूं, इस मातृ-भूमि के लिए
और जब मरुँ तो तिरंगा कफ़न चाहिये !!

☜☆☆☆☆☆☆☆☆☆☞


Mera Hindustan

मेरा “हिंदुस्तान” महान था,
महान है और महान रहेगा,
होगा हौसला बुलंद सब के ड़ों में बुलंद
तो एक दिन पाक भी जय हिन्द कहेगा.


Leave a Comment

Your email address will not be published.