Best Kumar vishwas Shayari – Quotes, Status, Poetry & Thoughts

Best Kumar Vishwas Shayari collection of poetry, ghazal, Nazm in Hindi & English. मेरा जो भी तर्जुबा है, तुम्हे बतला रहा हूँ मैं
कोई लब छु गया था तब, की अब तक गा रहा हूँ मैं.


Koi deewana kehta hai, koi pagal samjhta hai
Magar dharti ki bechani, ko bas badal samjhta hai
Main tujhse door kesa hu, tu mujhse door kesi hai
Ye tera dil samjhta hai, ya mera dil samjhta hai..


कोई दीवाना कहता है, कोई पागल समझता है, मगर धरती की बेचैनी, को बस बादल समझता है, मैं तुझसे दूर कैसा हू, तू मुझसे दूर कैसी है, ये तेरा दिल समझता है, या मेरा दिल समझता है.!


Mera job hi tajurba hai, tumhe batla raha hu main
Koi lab chu gaya tab, ki ab tak gaa raha hoon main
Bichud ke tum se ab kaise, jiya jaaye bina tadpe
Jo main hi nahi samjha, wahi samjha raha hoon main..


Mera jobi
Kumar vishwas Shayari

मेरा जो भी तर्जुबा है, तुम्हे बतला रहा हूँ मैं
कोई लब छु गया था तब, की अब तक गा रहा हूँ मैं
बिछुड़ के तुम से अब कैसे, जिया जाये बिना तडपे, जो मैं खुद ही नहीं समझा, वही समझा रहा हु मैं.!


Mere jine marne me, tumhara naam aayega
Main saans rok lu phir bhi, yahi iljam aayega
Har ek dhadkan me jab tum ho, to phir apradh kya mera
Agar radha pukaregi, to ghanshaym aayega.


मेरे जीने मरने में, तुम्हारा नाम आएगा
मैं सांस रोक लू फिर भी, यही इलज़ाम आएगा
हर एक धड़कन में जब तुम हो, तो फिर अपराध क्या मेरा
अगर राधा पुकारेंगी, तो घनश्याम आएगा.!


Mohabbat ek ehsaaso ki, pawan si kahani hai
Kabhi kabira diwana tha, kabhi meera diwani hai
Yahan sab log kahte hai, meri aankhon me aansu hai
Jo tu samjhe to moti hai, jo na samjhe to pani hai..


मोहब्बत एक एहसासों की, पावन सी कहानी है, कभी कबीरा दीवाना था, कभी मीरा दीवानी है, यहाँ सब लोग कहते है, मेरी आँखों में आंसू है, जो तू समझे तो मोती है, जो न समझे तो पानी है.!


Panahon mein jo aaya ho, us par vaar kya karana jo dil haara hua ho, us pe phir se adhikar kya karana mohabbat ka maza to, doobane kee kashamakash mein hai. jo ho maaloom gaharayi, to dariya paar kya karana.


पनाहों में जो आया हो, उस पर वार क्या करना जो दिल हारा हुआ हो,
उस पे फिर से अधिकार क्या करना
मोहब्बत का मज़ा तो,
डूबने की कशमकश में है.
जो हो मालूम गहरायी, तो दरिया पार क्या करना.


Girebaan chaak karna kya hain,
Seena aur mushkil hain
Har ek pal muskura ke,
Ashq peena aur mushkil hain
Humari badnaseebee ne,
Hume itna shikhaya hain
Kisi ke ishq main marne se,
Jeena aur mushkil hain…


गिरेबां चाक करना क्या है,
सीना और मुश्किल है.
हर एक पल मुस्कुरा के,
अश्क पीना और मुश्किल है.
हमारी बदनसीबी ने,
हमें इतना सीखाया है.
किसी के इश्क में मरने से,
जीना और मुश्किल है.


Har ik khone mein har ik paane mein teri yaad aatee hai namak aankhon mein ghul jaane mein teri yaad aathi hai. teri amrt bhari laharon ko kya maaloom ganga maan samandar paar veerane mein teri yaad athi hai.


Har ek suno
Kumar vishwas Shayari

हर इक खोने में हर इक पाने में
तेरी याद आती है
नमक आँखों में घुल जाने में तेरी याद आती है., तेरी अमृत भरी लहरों को क्या मालूम गंगा माँ, समंदर पार वीराने में तेरी याद आती है.!


Kumar vishwas Shayari on life

Ummeedon ka phata pairahan, roz-roz silana padata hai, tum se milane ki koshish mein, kis-kis se milana padata hai.


उम्मीदों का फटा पैरहन,
रोज़-रोज़ सिलना पड़ता है,
तुम से मिलने की कोशिश में,
किस-किस से मिलना पड़ता है.!


Ghar se nikala hoon to nikala hai ghar bhi saath mere dekhana ye hai ki manzil pe kaun pahunchega ? meri kashtee mein bhanvar baandh ke duniya khush hai duniya dekhegi ki saahil pe kaun pahunchega.


Ghar se nikla
Kumar vishwas Shayari

घर से निकला हूँ तो निकला है घर भी साथ मेरे, देखना ये है कि मंज़िल पे कौन पहुँचेगा मेरी कश्ती में भँवर बाँध के दुनिया ख़ुश है
दुनिया देखेगी कि साहिल पे कौन पहुँचेगा.!


Himmat e raushani badh jatee hai, ham chiragon kee in havaon se, koi to ja ke bata de us ko, chain badhata hai badduaon se.


हिम्मत ए रौशनी बढ़ जाती है,
हम चिरागों की इन हवाओं से,
कोई तो जा के बता दे उस को,
चैन बढता है बद्दुआओं से..!


Svany se door ho tum bhi svany se door hai ham bhi bahut mashahoor ho tum bhi bahut mashahoor hai ham bhi bade magaroor ho tum bhi bade magaroor hai ham bhi atah majaboor ho tum bhi atah majaboor hai ham bhi.


स्वंय से दूर हो तुम भी स्वंय से दूर है हम भी
बहुत मशहूर हो तुम भी बहुत मशहूर है हम भी, बड़े मगरूर हो तुम भी बड़े मगरूर है हम भी, अतः मजबूर हो तुम भी अतः मजबूर है हम भी।


Bhramar koi kumudani par machal baitha to hangama hamare dil mein koi khvaab pal baitha to hangama abhi tak doobakar sunate the sab kissa muhabbat ka main kisse ko hakeekat mein badal baitha to hangama.


भ्रमर कोई कुमुदनी पर मचल बैठा तो हंगामा हमारे दिल में कोई ख्वाब पल बैठा तो हंगामा अभी तक डूबकर सुनते थे सब किस्सा मुहब्बत का, मैं किस्से को हकीकत में बदल बैठा तो हंगामा.!


Ye dil barbad karake so mein kyon aabaad rahate ho koi kal kah raha tha tum allahabaad rahate ho ye kaisi shoharaten mujhako ata kar dee mere maula main sabh kuchh bhool jata hoon magar tum yaad rahate ho.


Ye dil barbad

ये दिल बर्बाद करके सो में क्यों आबाद रहते हो, कोई कल कह रहा था तुम अल्लाहाबाद रहते हो, ये कैसी शोहरतें मुझको अता कर दी मेरे मौला, मैं सभ कुछ भूल जाता हूँ मगर तुम याद रहते हो..!


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *