Best Zakir Khan Shayari & Poems On Love ~ life ~ Relations ~ Success…

Zakir khan shayari and peoms love,life,Relations,Success. Zakir Khan is a well known name within the stand-up comedy league. From being a university dropout to becoming one among the foremost popular stand-up comedians in India the journey of this Sakht Launda has been inspiring. won the title of ‘India’s Best Stand Up’ during a comedy contest organized by Comedy Central, he’s an equally talented Shayar also …


मोह्हबत करो बहोत,
लेकिन खुद के इज़्ज़त के साथ करो.


Mohhabat Karo Bahot,
Lekin Khud Ke Izzat Ke Saath Karo.


Jise pyar hota hai

जिसे पियर होता है, उसे होता है…
कोई लॉजिक तो होता नहीं है.


Jise Piyar Hota Hai, Use Hota Hai…
Koi Logic To Hota Nahi Hai.


ज़िन्दगी से कुछ ज़ादा नहीं,
बस इतनी सी फ़रमाइश है.


Zindagi se kuch zaada nahi,
bas itni si farmaaish hai.


ऐ दिल-ए-बे-क़रार चुप हो जा
जा चुकी है बहार चुप हो जा !


Ai dil-e-be-qaraar chup ho ja,
ja chuki hai bahar chup ho ja…


अब तस्वीर से नहीं,
तफ्सील से मिलने की ख्वाहिश है.


Ab tasveer se nahi,
tafseel se milne ki khwaaish hai.


मेरी औक़ात मेरे सपनो से इतनी बार हारी है की अब उसने बीच में बोलना ही बंद कर दिया है.


Mere auqat mere sapne

Meri auqaat mere sapno se itni baar haari hai ki ab usne beech me bolna hi band kar diya hai.


इश्क़ को मासूम रहने दो,
नोटबुक के आखरी पन्ने पर.


Ishq ko masoom rehne do,
notebook ke aakhri panne par.


यूँ तोह भूले हैं हम लोग कई,
पहले भी बहुत से,
पर तुम जितना कोई उनमें से,
कभी याद नहीं आया…


Yun toh bhoole hain hume log kai, pehle bhi bahut se,
Par tum jitna koi unme se,
kabhi yaad nahi aaya.


बोहोत मासूम लड़की है इश्क़ की बात नही समझती,
ना जाने किस दिन में खोयी रहती है
मेरी रात नही समझती!!


Bohot maasum ladki hai ishq ki baat nhi samajhti, naa jaane kis din mein khoyi rehti hai meri raat nhi samajhti.


दुश्मनों से क्या ग़रज़ दुश्मन हैं वो
दोस्तों को आज़मा कर देखिए!


Dushmanon se kya garaz dushman hain vo doston ko aazama kar dekhie…


हां, हम, सही बातें तोह खेती है,
अल्फ़ाज़ समझ लेती है जज़्बात नही समझती.


Haa, hm, sahi batein toh kheti hai,
Alfaz samjh leti hai jasbat nhi samajhti.


हर एक दस्तूर से बेवफाई,
मैं शिद्दत से है निभाई.


Har ek dastoor se bewafai,
main shiddat se hai nibhai.


रास्ते भी खुद है ढूँढे, और मंज़िल भी खुद बनायीं,
आप उसे किताबों में डालकर मुश्किल न कीजिये.


Raste bhi khud hai dhundhe, aur manzil bhi khud banayi,
Aap use kitaabon mein daalkar mushkil na kijiye.


तेरी बेवफ़ाई के अंगारों में लिपटी रही यह रूह मेरी,
मैं इस तरह आग न होता, जो होजाती तू मेरी.


Teri bewafaai ke Angaaron main lipti rhi yh Ruuh meri,
Main is tarah aag na hota, jo hojaati tuu meri.


Jabhi bhi

जभी भी प्रोपोज़ करने जाये तोह,
ात लीस्ट सेल्फ-रेस्पेक्ट के साथ वापस आये!


Jabhi Bhi Propose Karne Jaye Toh, At Least Self-respect Ke Sath Wapas Aye.


हम आपको इस शुभ अवसर पर बहुत-बहुत बधाई देते हैं। साथ ही, आपके अच्छे स्वास्थ्य और सफल जीवन की कामना करते हैं।


Ham apako is shubh avasar par bahut-bahut badhaee dete hain. sath hi, apake achchhe svaasthy aur saphal jeevan ki kamana karate hain.


Zakir khan shayari «» जाकिर खान शायरी


“बेवजह बेवफ़ाओं को याद किया है, गलत लोगों पे बहुत वक़्त बर्बाद किया है.”


Bewajeh bewafaaon ko yaad kiya hai, Galat logon pe bahut waqt barbaad kiya hai.


हम कामना करते हैं और आशा करते हैं कि आप लगातार अपनी कॉमेडी के साथ हमारे साथ खड़े रहेंगे और शो देखेंगे। धन्यवाद
यू आर ए वेरी गुड कॉमेडियन।


Ham kamana karate hain aur asha karate hain ki aap lagaataar apani komedi ke sath hamare sath khade rahenge aur sho dekhenge. dhanyavad yoo aar e veree gud komediyan.


दुश्मनों की जफ़ा का ख़ौफ़ नहीं
दोस्तों की वफ़ा से डरते हैं!


Dushmanon kee jafa ka khauf nahin doston kee vafa se darate hain…


Ashiqi ho ki

आशिक़ी हो कि बंदगी ‘फ़ाख़िर’
बे-दिली से तो इब्तिदा न करो!


Ashiqi ho ki bandagi ‘faakhir’
be-dilee se to ibtida na karo..


देखने वालो तबस्सुम को करम मत समझो
उन्हें तो देखने वालों पे हँसी आती है!


Dekhane valo tabassum ko karam mat samajho unhen to dekhane vaalon pe hansi aati hai.


दिल तो रोता रहे ओर आँख से आँसू न बहे
इश्क़ की ऐसी रिवायात ने दिल तोड़ दिया!!


Dil to rota rahe or ankh se ansoo na bahe ishq ki aisee rivayat ne dil tod diya.


हम से पूछो न दोस्ती का सिला
दुश्मनों का भी दिल हिला देगा !


ham se poochho na dosti ka sila dushmanon ka bhi dil hila dega.


अब न आएँगे रूठने वाले
दीदा-ए-अश्क-बार चुप हो जा!


Ab na aenge roothane vale,
deeda-e-ashk-bar chup ho ja…


ऐ अदम के मुसाफ़िरो होशियार
राह में ज़िंदगी खड़ी होगी!


Ai adam ke musaafiro hoshiyar
raah mein zindagi khadi hogi.


जिस गुलदान को तुम अज्ज अपना कहते हो, उसका फूल कभी हमारा था, हु जो अब तुम उसके मुक्तहार हो तोह सुन लो, उससे अच्छा…


Jis guldaan ko tum ajj apna kehte ho, uska phool kabhi hamara tha, Who jo ab tum uske mukthaar ho toh sun lo, usse acha…


मेरे कुछ सवाल है जो सिर्फ क़यामतट के रोज पूछूँगा तुमसे, क्युकी उसके पहले तुम्हारी और मेरी बात हो सके इस लायक नहीं हो तुम…


Mere kuch sawal hai jo sirf Qayamatt ke roj puchhunga tumse, Kyuki uske pehle tumhari aur meri bat ho sake iss layak nahi ho tum…


मई वक़्त और तुम क़यामत. देखना,
जब हम मिलेंगे तोह इस कायनात में सब कुछ रुक जायेगा. मेरे इश्क़ में उम्मीद है.


Mai waqt aur tum qayamat. Dekhna, Jab hum milege toh iss kainaat me sab kuch ruk jayega. Mere ishq me umeed hai.


तेरी शर्तः पे ही करना है!
अगर तुझ को क़ुबूल ये सहूलत तो
मुझे सारा जहाँ देता है..


Teri shartoh pe hi karna hai agar tujh ko qubul ye suhulat to mujhe sara jahan deta hai…


“ज़िन्दगी से कुछ ज़ादा नहीं,
बस इतनी सी फ़रमाइश है,
अब तस्वीर से नहीं,
तफ्सील से मिलने की ख्वाहिश है.”


Zindagi se kuch jyada nahi

Zindagi se kuch zaada nahi,
bas itni si farmaaish hai,
ab tasveer se nahi,
tafseel se milne ki khwaaish hai.


चार दिन की रोड ट्रिप है
पर हम व्हील पे नहीं सोएंगे
एक छोटा सा किस्सा भी हो जाए…


Chaar din ki road trip hai
Par hum wheel pe nahin soyenge
Ek chhota sa kissa bhi ho jaaye…


तोह उसे बढ़ा चढ़ा के सुनायेंगे
पर जब दिल टूटेगा न
तोह अपने दोस्तों को भी नहीं बताएँगे
क्योंकि सब सम्भाल लेते हैं हम.


Toh use badha chadha ke sunayenge,par jab dil tootega na
Toh apne doston ko bhi nahin batayenge, Kyonki sab sambhaal lete hain hum.

━━━━━━━━━✧❂✧━━━━━━━━

1 thought on “Best Zakir Khan Shayari & Poems On Love ~ life ~ Relations ~ Success…”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *