Ultimate Attitude Shayari In Hindi | अल्टीमेट शायरी इन हिंदी attitude.

Shayari Attitude
Jaroori nahi ki

जरूरी नहीं की सबकी नज़रों में अच्छे ही बनों, कुछ लोगों की नज़रों में खटकने का मज़ा ही कुछ और है।


Jaroori nahi ki sabki nazaron mein achhe hee bano, kuch logon ki nazaron mein khatkane ka maza hi kuch aur hai.


ज़हां से तेरी बादशाही खत्म होंती है, वहां से मेरी नवाबी शुरु होती है..!


Zahan se teri baadshahi khathm honthi hai, vahan se meri navabi shuru hothi hai..


नही चाहिए वो जो मेरी किस्मत में नहीं,
भीख मांगकर जीना मेरी फितरत में नही..!


Nahi chahie vo jo meri kismath mein nahi, bhikh mangakar jeena meri phithrat mein nahi..


हमें शादी का कोई शौक नहीं है कसम से,
ये तो आने वाले बच्चों की ज़िद है कि मम्मी चाहिए..!!


Hamen shadi ka koi shauq nahi hai kasam se, Ye to aane vaale bachhon ki zid hai ki mammi chahie..


हमारी सादगी ही “गुमनाम” रखती है हमें,
जरा सा बिगड़ जाएं तो “मशहूर” हो जाएं।


Hamari shadgi hi gumnam rakhthi hai hamen, jara sar bigad jaayen to mashur ho jaayen..


माना की तू किसी “रानी” से कम नही,
लेकिन वो रानी ही क्या जिसके “राजा” हम नही।


Mana ki tu kisi rani se kam nahi, Lekin vah rani hi kya jiske raja ham nahi.


हम दुश्मनों को भी बड़ी शानदार सजा देते हैं, हात नहीं उठाते बस नज़रों से गिरा देते हैं.


Ham dushmano ko bhi badi shanadhar saja dethe hai, haat nahi utathe bas nazaron se gira dethe hai.


Ultimate hindi quotes

Phool jab kabhi usne

फूल जब कभी उसने छू लिया होगा,
होश तो ख़ुशबू के भी उड़ गए होंगे..!


Phool jab kabhi usne choo liya hoga, hosh to khushbu ke bhi ud gaye honge..


सुन पगली.
तू मोहब्बत है मेरी इसलिए दूर है मुझसे,
अगर जिद होती तो मेरी बाहों में होती।


Sun pagali.. Tu mohabbat hai meri isliye dur hai mujhse, agar jid hothi to meri bahon mein hothi…


दूर हो जाने की तलब है, तो शौक से जा बस याद रहे की मुड़कर देखने की आदत इधर भी नही!!


Door ho jaane ki thalab hai, to shauq se ja bas yaad rahe ki mudakar dekhne ki adath idhar bhi nahi..


बदलना चाहते हो तो शौक से बदलो,
मगर इतना याद रखना,
जो हम बदले तो करवटें बदलते रह जाओगे।


Badhlna chahthe ho tho shauq se badhlo Magar ihtna yad rakhna, jo ham badhle to karvaten badalthe rahe jaoge.


खून मे ऊबाल वो आज भी खानदानी है दुनिया हमारे शौक की नहीं, हमारे तेवर की दिवानी है!!


Khoon me oobal vo aaj bhi khandani hai duniya hamare shauq ki nahi, hamare tevar ki divani hai.


दिलों से खेलना हमें भी आता है पर
जिस खेल में,
खिलौना टूट जाए, वो खेल हमें पसंद
नही।


Dilon se khelna hamen bhi aatha hai par,
Jis khel mein khilauna tut jaaye vo khel hame pasand nahi.


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *