Beautiful Dosti Shayari in Hindi | Friendship Shayari & Status – दोस्ती शायरी

The best collection of Friendship shayari~ Dosti Shayari Express your feelings to your true friend with our finest collection of Friendship Shayari, Hindi Dosti Shayari, Friendship SMS and Friendship …


सच्ची दोस्ती बेजुबान होती है,
ये तो आंखो से बयां होती है,
दोस्ती में दर्द मिले तो क्या,
दर्द में ही दोस्ती की पहचान होती है।

Sachhi dosti
Best dosti shayari

Sachchi dosti bejuban hoti hai, ye to aankho se bayan hoti hai, dosti mein dard mile to kya, dard mein hi dosti ki pahachan hoti hai.


हर दोस्ती दिल के करीब नही होती,
गमो से ज़िंदगी दूर नही होती,
ऐ मेरे दोस्त दोस्ती संजो के रखना,
हर किसी को दोस्ती नसीब नही होती।


Har dosti dil ke kareeb nahi hothi, gamo se zindagi door nahi hothi, ai mere dost dosti sanjo ke rakhana, har kisi ko dosti naseeb nahi hothi.


मेरी दोस्ती के सारे एहसास लेलो,
दिल से प्यार के सारे जज़्बात लेलो।
नहीं छोड़ेंगे साथ तुम्हारा,
चाहे इस दोस्ती के इम्तिहान हजार लेलो।


Meri dosti ke saare ehasas lelo, dil se pyaar ke sare jazbaat lelo. nahin chhodenge saath tumhara, chahe is dosti ke imtihan hajar lelo.


Karni hai khuda se
Dosti guzari shayari

करनी है खुदा से गुजारिश,
तेरी दोस्ती के सिवा कोई बंदगी न मिले,
हर जनम में मिले दोस्त तेरे जैसा,
या फिर कभी जिंदगी न मिले।


Karani hai khuda se gujarish, teri dosti ke siva koi bandagi na mile, har janam mein mile dost tere jaisa, ya phir kabhi jindagi na mile.


जब दोस्ती सच्ची और मजबूत होती है,
तो उसे जताने की ज़रूरत नही होती है,
चाहे दोस्त कितना भी दूर चला जाये,
उसे पास लाने की ज़रूरत नही होती है।


Jab dosti sachchi aur majaboot hoti hai, to use jatane kee zaroorat nahi hoti hai, chahe dost kitana bhi door chala jaaye, use paas laane ki zaroorat nahi hothi hai.


प्यार से कहो तो आसमान मांग लो,
रूठ कर कहो तो मुस्कान मांग लो,
तमन्ना यही है कि दोस्ती मत तोड़ना,
फिर चाहें हँसकर हमारी जान मांग लो।


Pyaar se kaho to aasaman maang lo, rooth kar kaho to muskan maang lo, tamanna yahi hai ki dosti mat todana, phir chahen hansakar hamari jaan maang lo.


तेरी दोस्ती ने बहुत कुछ सीखा दिया,
मेरी खामोश दुनिया को जैसे हँसा दिया,
कर्ज़दार हूँ मैं खुदा का, जिस ने मुझे
आप जैसे दोस्त से मिला दिया..!


Teri dosti ne bahut kuchh seekha diya, meri khaamosh duniya ko jaise hansa diya, karzadar hoon main khuda ka, jis ne mujhe aap jaise dost se mila diya.


Dosti chehre ko
Dosth chehre dosti shayari

दोस्ती चेहरे की मीठी मुस्कान होती है,
दोस्ती सुख दुख की पहचान होती है,
रूठ भी जाए हम तो दिल से मत लगाना,
क्योंकि दोस्ती थोड़ी नादान होती है।


Dosti chehare ki meethi muskan hoti hai, dosti sukh dukh kee pahachan hothi hai, rooth bhi jae ham to dil se mat lagana, kyonki dosti thodi nadaan hoti hai.


अच्छा और सच्चा दोस्त एक फूल है,
जिसे हम तोड़ भी नही सकते,
और अकेला छोड़ भी नही सकते,
अगर तोड़ लिया तो मुरझा जायेगा,
और छोड़ दिया तो कोई और ले जायेगा।


Achchha aur sachcha dost ek phool hai, jise ham tod bhi nahi sakate, aur akela chhod bhee nahee sakate, agar tod liya to murajha jaayega, aur chhod diya to koee aur le jaayega.


आपकी दोस्ती की एक नजर चाहिए,
दिल है बे-घर उसे एक घर चहिए,
बस यूही साथ चलते रहो ‘ऐ दोस्त’
ये दोस्ती हमे उम्र भर चाहिए।


Aapaki dostee kee ek najar chaahie, dil hai be-ghar use ek ghar chahie, bas yoohee saath chalate raho ‘ai dost’ ye dostee hame umr bhar chaahie.


दोस्ती से कीमती कोइ जागीर नहीं होती,
दोस्ती से खुबसूरत कोई तस्वीर नहीं होती,
दोस्ती यूँ तो कच्चा धागा है मगर,
इस धागे से मजबूत कोई जंजीर नहीं होती !


Dosthi se keematee koi jaageer nahin hotee, dostee se khubasoorat koee tasveer nahin hotee, dostee yoon to kachcha dhaaga hai magar, is dhaage se majaboot koee janjeer nahin hothi..


Sachhi, Dosti Shayari


Dosti vo nahi
Dosthi vo nahi

दोस्ती वो नहीं जो जान देती है,
दोस्ती वो भी नहीं जो मुस्कान देती है,
अरे सच्ची दोस्ती तो वो है,,
जो पानी में गिरा हुआ आंसू भी पहचान लेती है.!


Dosthi vo nahin jo jaan deti hai, dostee vo bhee nahin jo muskaan detee hai, are sachchee dostee to vo hai.. jo paanee mein gira hua aansoo bhee pahachaan letee hai.


हर ख़ुशी से ख़ूबसूरत तेरी शाम कर दूँ,
अपना प्यार और दोस्ती तेरे नाम कर दूँ,
मिल जाये अगर दुबारा यह ज़िन्दगी दोस्त,
हर बार मैं ये ज़िन्दगी तुझ पर कुर्बान कर दूँ।.


Har khushi se khoobasoorat teri shaam kar doon, apana pyaar aur dostee tere naam kar doon, mil jaaye agar dubaara yah zindagI dost, har baar main ye zindagi tujh par kurbaan kar doon.


एक रात रब ने मेरे दिल से पूछा,
तू दोस्ती में इतना क्यूँ खोया है?
दिल बोला दोस्तों ने ही दी हैं सारी खुशियाँ,
वरना प्यार करके तो दिल हमेशा रोया है।


Ek raat rab ne mere dil se poochha, too dosti mein itana kyoon khoya hai? dil bola doston ne hee dee hain saaree khushiyaan, varana pyaar karake to dil hamesha roya hai.


न जाने सालों बाद कैसा समां होगा,
हम सब दोस्तों में से कौन कहा होगा,
फिर अगर मिलना होगा तो मिलेंगे ख्वाबों मे, जैसे सूखे गुलाब मिलते है किताबों मे ..!


Na jaane saalon baad kaisa saman hoga, ham sab doston mein se kaun kaha hoga, phir agar milana hoga to milenge khvaabon me, jaise sookhe gulaab milate hai kitaabon me.


Shayari on dosti


Vo dil kya
Dil dosti shayari

वो दिल क्या जो मिलने की दुआ न करे,
तुम्हें भुलकर जिऊ यह खुदा न करे,
रहे तेरी दोस्ती मेरी जिन्दगानी बनकर,
यह बात और है जिन्दगी वफा न करे|


Vo dil kya jo milane kee dua na kare, tumhen bhulakar jioo yah khuda na kare, rahe teree dostee meree jindagaanee banakar, yah baat aur hai jindagee vapha na kare..


Dosti Shayari 2 Line


तुझे कौन जानता था मेरी दोस्ती से पहले,
तेरा हुस्न कुछ नहीं था मेरी शाइरी से पहले..!


Tujhe kaun jaanata tha meri dosthi se pahale tera husn kuchh nahin tha meree shairee se pahale.


जो दोस्त हैं वो माँगते हैं सुलह की दुआ
दुश्मन ये चाहते हैं कि आपस में जंग हो.!


Jo dost hain vo mangate hain sulah ki dua dushman ye chaahate hain ki aapas mein jang ho..


Is se pehle

इस से पहले कि बे-वफ़ा हो जाएँ,
क्यूँ न ऐ दोस्त हम जुदा हो जाएँ.!


Is se pahale ki be-vafa ho jaen kyoon na ai dost ham juda ho jaen.


मेरा ज़मीर बहुत है मुझे सज़ा के लिए,
तू दोस्त है तो नसीहत न कर ख़ुदा के लिए..!


Mera zameer bahut hai mujhe saza ke lie too dost hai to naseehat na kar khuda ke lie.


दोस्त दिल रखने को करते हैं बहाने क्या, किया रोज़ झूटी ख़बर-ए-वस्ल सुना जाते हैं..!


Dost dil rakhane ko karate hain, bahane kya kiya roz jhooti khabar-e-vasl suna jaate hain..


आ कि तुझ बिन इस तरह ऐ दोस्त घबराता हूँ ,मैं जैसे हर शय में किसी शय की कमी पाता हूँ !!


Aa ki tujh bin is tarah ai dost ghabarata hoon main jaise har shay mein kisee shay kee kami paata hoon.


जो दोस्त हैं वो माँगते हैं सुलह की दुआ,
दुश्मन ये चाहते हैं कि आपस में जंग हो..!


Jo dost hain vo mangate hain sulah ki dua dushman ye chaahate hain ki aapas mein jang ho..


Shayari For Best Friend


Sathe lagayi

शर्तें लगाई जाती नहीं दोस्ती के साथ,
कीजे मुझे क़ुबूल मिरी हर कमी के साथ..!


Sharten lagai jathi nahin dosti ke saath keeje mujhe qubool miri har kamee ke saath..


ज़िद हर इक बात पर नहीं अच्छी
दोस्त की दोस्त मान लेते हैं.!!


Zid har ik baat par nahin achchhi dost ki dost maan lete hain…


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *